2.9 C
New York
Wednesday, Feb 21, 2024
Star Media News
Breaking News
Reviews

मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल के नेतृत्व में राज्य के ऊर्जा मंत्री कनुभाई देसाई ने राज्य के बिजली उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली सेवाएं प्रदान करने के लिए राज्य सरकार का एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया।

धरमपुर, कीम और वघई में तीन नए संभागीय कार्यालयों (डिविजन आफिस) के निर्माण की अनुमति मिली।

बिजली उपभोक्ताओं के हित में लिए गए इस निर्णय से दक्षिण गुजरात पावर कंपनी के अंतर्गत सूरत, डांग और वलसाड जिलों के सुदूर क्षेत्रों में रहने वाले बिजली उपभोक्ताओं को उत्कृष्ट बिजली सेवा प्रदान करने के कार्य में काफी मदद मिलेगी:- ऊर्जा मंत्री कनुभाई देसाई

वलसाड। मुख्यमंत्री भूपेन्द्रभाई पटेल के मार्गदर्शन में राज्य के ऊर्जा मंत्री कनुभाई देसाई के माध्यम से सभी बिजली उपभोक्ताओं को निकटतम स्थान से उत्कृष्ट बिजली सेवा और सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार ने हमेशा प्रगतिशील निर्णय लिए हैं। ऐसे ही एक महत्वपूर्ण निर्णय के तहत राज्य सरकार ने दक्षिण गुजरात पावर कंपनी के कार्य क्षेत्र में तीन नए संभागीय कार्यालय (मंडल कार्यालय ) धरमपुर, कीम और वघई में निर्माण की अनुमति दी है।

इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए ऊर्जा मंत्री कनुभाई देसाई ने कहा कि हाल ही में दक्षिण गुजरात पावर कंपनी के अधिकार क्षेत्र में वापी ग्रामीण मंडल कार्यालय को विभाजित कर नया धरमपुर मंडल कार्यालय, कडोदरा मंडल कार्यालय को विभाजित कर नए कीम मंडल कार्यालय और नवसारी ग्रामीण मंडल कार्यालय को विभाजित कर नया वघई संभागीय कार्यालय ऐसे तीन नए संभागीय कार्यालय (डिविजन) बनाए जाएंगे। नया धरमपुर मंडल कार्यालय वलसाड जिले में, नया कीम मंडल कार्यालय सूरत जिले में और नया वघई मंडल कार्यालय डांग जिले में स्थापित किया जाएगा। नए कीम मंडल कार्यालय की स्थापना होने के कारण करंज, मोटा वराछा, कीम आदि क्षेत्रों के बिजली उपभोक्ताओं को संभाग कार्यालय से संबंधित कार्य के लिए कडोदरा जाना पड़ता था, इसके बजाय अब से कीम में मंजूर हुए नये कार्यालय से बिजली उपभोक्ताओं को बिजली की सेवाएं मिलेंगी। चूंकि वापी से कपराड़ा सुथारपाड़ा, नानापोंढ़ा, धरमपुर आदि क्षेत्र वापी से 70 किमी से अधिक दूर हैं, इसलिए ग्राहकों को असुविधा होती थी इसलिए सरकार द्वारा नए धरमपुर संभागीय कार्यालय को भौगोलिक सुविधा बनाए रखने की मंजूरी दी गई है। नवसारी ग्रामीण संभाग कार्यालय के अंतर्गत वांसदा, पीपलखेड़, वघई, आहवा, सापुतारा, अनावल क्षेत्र नवसारी से 100 किमी से अधिक दूर हैं, इसलिए उपभोक्ताओं को निकटतम स्थान से बिजली सेवाएं प्राप्त करने के लिए नए वघई मंडल कार्यालय को मंजूरी दी गई है। नए धरमपुर मंडल कार्यालय व नए वघई मंडल कार्यालय से आदिवासी व वन क्षेत्रों में रहने वाले बिजली उपभोक्ताओं को भी अब भारी लाभ मिलेगा।

ऊर्जा मंत्री कनुभाई देसाई ने राज्य के बिजली उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली सेवाएं प्रदान करने के लिए बनाए गए नए उपमंडल कार्यालयों की जानकारी देते हुए कहा कि पिछले एक साल में पूरे राज्य में 16 उपमंडल कार्यालय बनाए गए हैं। दक्षिण गुजरात में 6, उत्तरी गुजरात में 5, मध्य गुजरात में 3 और पश्चिम गुजरात में 2 नए कार्यालय बनाए गए हैं। प्रदेश के विद्युत उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण एवं निर्बाध विद्युत आपूर्ति प्रदान करने के लिए पिछले एक वर्ष में 106 नये सब-स्टेशन बनाये गये हैं तथा वर्ष 2022-23 में 110 नये सब-स्टेशन बनाने की योजना है।

ऊर्जा मंत्री कनुभाई देसाई ने कहा कि इन नए कार्यालयों और सब-स्टेशनों के निर्माण से बिजली उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली सेवा और सुविधाओं के साथ-साथ गुणवत्ता और निरंतर बिजली की आपूर्ति मिलेगी। पिछले एक साल में वैश्विक बिजली संकट के दौरान राज्य की असामान्य बिजली मांग को पूरा करने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में बात करते हुए मंत्री ने कहा कि आने वाले समय में सभी परियोजनाओं से बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करने और विभिन्न मुद्दों पर विशेष व्यवस्था की गई है। कोयले की गुणवत्ता, उपलब्धता, लागत आदि के संबंध में सभी समस्याओं के समाधान के लिए केंद्र सरकार के व्यक्तिगत रूप से ऊर्जा मंत्री, रेल मंत्री और कोयला मंत्री से मुलाकात कर सभी समस्याओं का स्थायी समाधान किया गया है। मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार राज्य के बिजली उपभोक्ताओं को उत्कृष्ट बिजली सेवाएं और गुणवत्ता और निर्बाध बिजली आपूर्ति प्रदान करने के साथ-साथ राज्य की बिजली की मांग को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

Related posts

 पीएमजीएसवाई योजना गरीब बच्चों के लिए वरदान साबित हुई

starmedia news

पुरुष नसबंदी को जिले में मिल रहा है अच्छा प्रतिसाद, पुरूषों की सक्रिय भागीदारी बढ़ी

starmedia news

डेंगू का सामान्य बुखार मानकर इलाज न किया जाए तो बढ़ सकता है मौत का खतरा:- डॉ. विपुल गामीत

starmedia news

Leave a Comment