32.9 C
New York
Sunday, Jun 23, 2024
Star Media News
Breaking News
News

चुनावी माहौल में फिर से अंगड़िया कंपनी विवादो में-

कृष्ण कुमार मिश्र,

गुजरात में अंगड़िया एक सेवाप्रदत्त कंपनी है , जो की मुख्यतः देश में समानांतर बैंकिंग प्रणाली के तौर पर कार्य करती है। धनी व्यापारी विशेष तौर पर गुजरात और मुंबई में पैसे के लें दें के लिए अंगड़िया पर विश्वास करते हैं। लेकिन पिछले 2-3 चुनावों से अंगड़िया विवादों में आ रही है। नगद रुपए या हवाला के जरिए आया पैसा पहुंचाने में नाम सामने आ रहा है। ब्लैक लिस्टेड और कई कार्यालयों को सील भी किया जा चुका है , लेकिन चुनावी माहौल में फिर से विवादो के घेरे में है। ताज़ा मामला गुजरात के बारडोली का है। जिसमे आयकर विभाग ने जांच में संलिप्त पाया है।

आयकर जांच में खुलासा हुआ है कि पिछले महीने हवाला के जरिए 20 करोड़ रुपये गुजरात भेजे गए थे. बारडोली विधानसभा सीट से आप के कार्यकर्ता राजेंद्र सोलंकी के पास से 20 लाख रुपये नकद मिलने से नजरों में आया , जिसके बाद आयकर विभाग ने अपनी जांच तब शुरू की तो सोलंकी ने स्वीकार किया कि उसे अंगड़िया कंपनी द्वारा या हवाला के जरिए 20 लाख रुपये नकद मिले।

रिपोर्ट्स में कहा गया है कि आयकर जांच में खुलासा हुआ है कि राज्य में अब तक अंगड़िया के जरिए 20 करोड़ रुपये आ चुके हैं. अंगडिया के चार कार्यालयों में जांच चल रही है। तीन फर्मों के खातों की जांच की जानी बाकी है, हालांकि आयकर अधिकारियों का कहना है कि हवाला के जरिए चुनावी खर्च के लिए जो रकम आई है, वह इससे ज्यादा हो सकती है।
जांच अधिकारियों ने कहा कि पंजाब और दिल्ली से पैसा अंगड़िया के जरिए सीधे अहमदाबाद आ रहा था। जांच में दिल्ली से, आप के आदित्य जैन और सुधीर ठाकुर कथित रूप से सामने आ रहा है। पुलिस द्वारा आगे की जांच में पाया गया कि ₹8 करोड़ दिल्ली से कई बार गुजरात आए, जिनमें से 108 प्रविष्टियां प्राप्त हुई हैं,” एक अधिकारी ने कहा। अधिकारी ने कहा, “हमने यह भी पाया कि पैसा विभिन्न अंगड़िया स्थानों से गुजरात आया था।”

अधिकारियों ने कहा कि आयकर विभाग द्वारा शुरू की गई जांच के दौरान, एक और तथ्य सामने आया कि सौरव पाराशर, जिसने अपनी पहचान राजेंद्र सोलंकी ड्राइवर के रूप में बताया , लेकिन बाद में स्वयं खुलासा किया कि वह आप की तकनीकी टीम के साथ काम कर रहे हैं और स्नातक हैं। अर्थशास्त्र अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने पहले कुछ अन्य राजनीतिक दलों के लिए काम किया था।

Related posts

समरस फाउंडेशन ने दी मिलिंद देसाई को बधाई।

cradmin

अरावली अग्रवाल समाज का दीपावली स्नेह सम्मेलन संपन्न।

cradmin

रामानुजाचार्य एवम् रामानंदाचार्य सिद्धांत को आगे बढ़ा रहा ” रामद्वारा” श्री पीठ, 

cradmin

Leave a Comment