17.6 C
New York
Sunday, Jun 16, 2024
Star Media News
Breaking News
NewsReviewsगुजरातप्रदेश

वलसाड जिला के किसानों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड योजना संकट के समय संजीवनी साबित हुई

वर्ष के दौरान 20 लाख रुपए तक का ऋण पाकर किसान आर्थिक रूप से समृद्ध हुए, अब किसान उर्वरक, कीटनाशक और बीज आसानी से खरीद पा रहे हैं:-
स्टार मीडिया न्यूज, 
वलसाड। केंद्र और राज्य सरकार द्वारा योजनाओं के बारे में जागरूकता फैलाने और जन कल्याणकारी योजनाओं को सभी लाभार्थियों और नागरिकों तक पहुंचाने के लिए “विकित भारत संकल्प यात्रा” शुरू की गई है। जिसमें खासकर विश्व में अन्न के देवता कहे जाने वाले किसानों पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया गया है। किसानों को आर्थिक रूप से मदद करने के लिए राज्य और केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं लागू की जाती हैं, जिनमें से एक किसान क्रेडिट कार्ड भी है। ‘मेरी कहानी, मेरी जुबानी’ में जानिए इस योजना से कैसे वलसाड जिला के किसान आर्थिक रूप से समृद्ध हुए।
वलसाड जिला के वापी तालुका के करवड़ गांव के किसान हितेश अरविंदभाई देसाई ने कहा कि किसानों को कृषि में वित्तीय समस्याओं से बचाने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड को संकट के समय में एक संजीवनी के रूप में माना जाता है। जिसमें किसानों को कम ब्याज दरों पर आसानी से ऋण मिल जाता है। पहले किसान क्रेडिट कार्ड न होने के कारण पैसे उधार लेने पड़ते थे, लेकिन किसान क्रेडिट कार्ड योजना लागू होने के बाद अब किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं पड़ती। जमीन की मात्रा के हिसाब से लोन मिलता है। मान लीजिए कि दो गुंठा जमीन है तो 4 हजार रुपये, 10 एकड़ जमीन है तो 8 लाख रुपये और 20 एकड़ जमीन है तो फसल को देखते हुए कर्ज भी 20 लाख रुपये तक मिलता है। जिसमें  3 लाख रुपए तक के लोन पर 7 फीसदी ब्याज और 3 लाख से ज्यादा के लोन पर 10.50 फीसदी ब्याज भरना पड़ता है। 3 लाख रुपए का लोन सरकार द्वारा निर्धारित तिथि पर लिया गया है और निर्धारित वर्ष के दौरान भर दिया जाये तो 4 प्रतिशत ब्याज केंद्र सरकार द्वारा और 3 प्रतिशत नाबार्ड द्वारा वापस दिया जाता है। यानी 3 लाख के लोन पर चुकाया जाने वाला ब्याज  21,000 रूपये वापस कर मिलता है। पिछले 10 वर्षों में मैं स्वयं 10 से 12 लाख रुपए तक का लोन वलसाड डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल को. आ. बैंक लिमिटेड के अंतर्गत संचालित वंकाछ विभाग सेवा सहकारी समिति से किसान क्रेडिट कार्ड द्वारा लिया है। यह किसान क्रेडिट कार्ड पांच साल के लिए स्वीकृत है। वर्ष के दौरान हम जो कुछ भी निकालते हैं और फसल की आय होती है तो निकाली गई राशि को नियत समय पर जमा कर देते है। ताकि आर्थिक व्यवहार्यता बनी रहे।
समय पर भुगतान करने पर भुगतान की गई ब्याज राशि भी वापस मिल जाती है:
धान और आम की खेती करने वाले वापी के देगाम गांव के एक अन्य किसान लाभार्थी प्रवीण कनुभाई पटेल ने कहा कि हर साल वह 3 लाख रुपए तक का कर्ज लेकर खेती कर रहे हैं। वह सही समय पर सही उर्वरक, दवाएँ और बीज सुगमता से खरीदते हैं, जिससे फसल उत्पादन में बढ़ावा मिलता है। किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए 5 साल की अवधि तक आसानी से बार-बार निकासी और जमा किया जा सकता है। आप 5 साल बाद दोबारा कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। समय पर भुगतान करने पर भुगतान की गई ब्याज राशि भी वापस मिल जाती है। किसान क्रेडिट कार्ड ऋण प्राप्त करने के लिए पहचान पत्र और भूमि स्वामित्व के प्रमाण के साथ निकटतम बैंक में आवेदन पत्र भरना होगा। किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 75 वर्ष है। मैं गुजरात सरकार की किसान क्रेडिट कार्ड योजना से मिले लाभ से बहुत उत्साहित हूं और अन्य किसानों से भी इस योजना का लाभ उठाने का अनुरोध करता हूं।

Related posts

वित्त मंत्री श्री कनुभाई देसाई के हाथों किया जाएगा राज्य की सर्वश्रेष्ठ गुजराती फिल्मों और उसके कलाकारों को 27 जून को पुरस्कृत

starmedia news

अखिल भारतीय धोबी समाज द्वारा अम्बेडकर जयंती का भव्य अयोजन

starmedia news

पूज्य रतिनाथ महाराज के लिए श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन

cradmin

Leave a Comment